जम्मू-कश्मीर (Jammu Kashmir) के कुपवाड़ा जिले के हंदवाड़ा (Handwara) में शनिवार को आतंकी मुठभेड़ (Terrorist Encounter) में शहीद हुए 5 जवानों की शहादत ने एक बार फिर देश को झकझोर कर रख दिया है. पांचों जवानों ने जिस तरह से अपनी जान की परवाह किए बगैर आतंकियों के कब्जे से परिवार को छुड़ाया और खुद शहीद हो गए, उसे देखकर हर कोई उनके साहस और पराक्रम को सलाम कर रहा है. देश के रक्षामंत्री राजनाथ सिंह (Rajnath Singh) ने भी ट्वीट करके शहीदों के प्रति संवेदना व्यक्त की है. उन्होंने कहा है कि इन सैनिकों ने देश के लिए बड़ा बलिदान दिया है जिसे भुलाया नहीं जा सकता.

रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने कहा, मैं आतंकी मुठभेड़ में मारे गए सैनिकों और सुरक्षाकर्मियों को अपनी श्रद्धांजलि अर्पित करता हूं. मैं दिल से उस परिवार के साथ अपनी संवेदना प्रकट करता हूं जिन्होंने आज अपने प्रियजनों को खो दिया. भारत इन बहादुर शहीदों के परिवारों के साथ कंधे से कंधा मिलाकर खड़ा है.
उन्होंने कहा, जम्मू-कश्मीर के हंदवाड़ा में हमारे सैनिको की मौत से जो क्षति हुई है, उससे मैं बेहद दुखी हूं. उन्होंने देश के लिए अपने अदम्य साहस का परिचय देते हुए बड़ा बलिदान दिया है. हम उनके इस साहस और बलिदान का कभी भूल नहीं सकते.

कर्नल और मेजर समेत 5 जवान शहीद

चांजमुल्ला इलाके में शनिवार देर रात तक चली आतंकी मुठभेड़ में एक कर्नल, एक मेजर, दो सेना के जवान और पुलिस सब इंस्पेक्टर शहीद हो गए. शहीद होने वालों में कर्नल आशुतोष, मेजर अनुज, पुलिस सब इंस्पेक्टर शकील काजी, एक लांस नायक और एक राइफलमैन शामिल हैं. कर्नल आशुतोष शर्मा ने आतंकियों के खिलाफ कई ऑपरेशन को सफलता से खत्म किया है, लेकिन इस एनकाउंटर में उनकी जान चली गई.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here